Loading

wait a moment

कौशल का विकास – देश का विकास

कौशल का विकास – देष का विकासकौशल का विकास – देष का विकास

लेखिका-  शोभा  चाँदला

मधुमक्खी  का  छत्ता  शहद  से भरा  है,  यदि  शहद  निकालते  समय  सारी  मधुमक्खियाँ  शहद  निकालनेवाले पर चिपक जाती हैं, तो इसका अर्थ यह है कि वह अपने कार्य में दक्ष नहीं है।
इसी तरह कटहल काटते समय चिपचिपा पदार्थ आपके हाथों मे चिपक जाता है तो इसका अर्थ यह है कि कटहल काटना अभी सीखना होगा।
सुगढ़ता के  साथ न  किये  जाने  वाले  कार्य  जैसे-  तैसे हो तो  जाते हैं  किन्तु  पीछे  एक  खिन्नता,ग्लानि  की  भावना  छोड़  जाते  है  जो  कहीं  न  कहीं  हमारे  आत्मगौरव को आहत करती  है। वो  हीकुशलता के साथ किये गये कार्य के पश्चात् एक आनन्द की अनुभूति तो होती ही है साथ ही अपने
पर गर्व भी महसूस होता है। हम अक्सर बच्चों को उनके काम करने के तरीकों पर फटकार लगाते रहते हैं, छोटी-छोटी गलतियों पर डांट लगाते हैं और उनसे उम्मीद रखते हैं कि वे हर कार्य को कुशलतापूर्वक (च्मतमिबज) करेगें, किन्तु ये भूल जाते हैं कि हमने कभी भी उनको सही कार्य करने का तरीका कैसे, क्यूं और कब करना है ये बताया ही नहीं है।
आरम्भिक काल से ही बच्चों की सुसंस्कारी बनाने के साथ निपुण बनाना, किसी कार्य को पूर्ण दक्षता
के साथ कैसे करना है यह सिखाना अभिभावकों व शिक्षकों/अध्यापकों का विशेष कत्र्तव्य है।
गाड़ी चालक यदि गाड़ी को हाईवे पर चलाने के लिए दक्ष नहीं हैं तो निश्चित रूप से ।बबपकमदजे
होगें। एक  टीचर  को देश के  भविष्य बच्चों  की  कक्षा में जाने  से  पहले  उसे  अनुमति  तभी  दी  जायेजब  वो  पूरी  तरह  से अपने  व्यवसाय के लिए  तैयार हो और  उसे  यह  कत्र्तव्य  का  बोध  हो  कि  वहराष्ट्र का भविष्य बनाने जा रही/रहा है।
हमें अस्पताल में ऐसे डाॅक्टर चाहिए जो कि अपने कार्य में दक्ष हों व रोगियों का उपचार पूरी दक्षता, सत्यनिष्ठा व कर्मठता से करें। इसी तरह न्यायालय में ऐसे न्यायाधीश नियुक्त होने चाहिए जो योग्य भी हो और पूरी सत्यनिष्ठा से न्यायदान करें।
देश में चाहे उच्च विचारक हो, समाज सुधारक हो, सिपाही इन्जीनियर या वैज्ञानिक हों, या सड़क की सफाई करने वाले सफाई कर्मचारी, जूते बनाने वाले मोची जो भी नागरिक अपने नियत कार्य को पूरी लगन, निष्ठा, मनोयोग व दक्षता के साथ करता है वह उस देश की प्रगति, निर्माण व विकास मेंसबसे उपयोगी, सहयोगी व अमूल्य नागरिक होता है। योगेश्वर श्री कृष्ण की दृष्टि में वह योगी सेकम नहीं होता है क्योंकि-कर्मो में कुशलता ही योग है – ’’योग कर्मसुः कौशलम्’’।।

1 बाटा  नाम  का  एक  बालक  जूतों  की  पाॅलिश  बडे  मनोयोग,  कुशलता से  करता  था  और  उसके  पासजूतों की पाॅलिश करवाने वालों की भीड़ लग जाया करती थी और एक दिन उसके भाग्य का द्वारखुला और वह कहाँ से कहाँ पहुँच गया। ऐसे  अनेक  उदाहरण  इतिहास  में  भरे  पड़े  है,  आज  का  सबसे  बड़ा उदाहरण व  आज  की पीढ़ी के
रोल माॅडल जो इस युग के प्रेणेता, विकास के पुरोधा, राष्ट्र व विश्वनायक हमारे राष्ट्र के प्रधानमंत्री आदरणीय श्री नरेन्द्र मोदी जी हैं। जिस दक्षता, निष्ठा, राष्ट्रभक्ति से वे देश का शासन, प्रशासन चला रहें है वह अद्वितीय है, 70 वर्षो की कमियों को ही दूर नहीं कर रहे अपितु आने वाली पीढ़ी विशेषकर युवाओं के लिए ऐसी योजनाओं जैसे जन-धन योजना, कौशल-विकास योजना, डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप, मेक इन इंडिया, सब का विकास, स्किल इंडिया की नींव रख रहे हैं जिसका लाभ हमारी भावी आने वाली पीढ़ियाँ उठायेंगी। ये सभी योजनायें आज राष्ट्र की मांग हैं।

प्रधानमंत्री द्वारा प्रतिष्ठित कौशल विकास योजना व  स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया जैसी योजनायें
राष्ट्र  के  विकास  में,  नौजवानों  को  जीवन  में  एक  नया  आयाम/उजाला लेकर  आई हैं। हमारेप्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने युवाओं के सपनों को नये पंख दे दिये हैं, उनकी आकांक्षाओं को उड़ानदी,  जीवन  का  एक  लक्ष्य  दे  दिया  व  अनगिनत  संभावनाओं  व  अवसरों के  द्वार खोले, उनकाआत्मगौरव  जगाया।  जब  देश  का  युवा  जागृत,  कुशल,  निष्ठावादी,  कर्मठ  व परिश्रमी होगा  तो  उसराष्ट को अन्य राष्ट्रों का मुकुटमणि, विश्वगुरू बनने से कोई नहीं रोक पायेगा 2

प्रधानमंत्री योजनाएॅ व उनके उदे्ष्य
कौशल िवकास अिभयान ष्ि कल इंिडया िमशनष् रू कौशल भारत दृ कुशल भारत भारत म दस साल की कांग्रेस पाटीर् केस ता शासन केबाद 2014 म भारतीय जनता पाटीर् नेबहुमत केसाथ िवजय प्रा त की और इस जीत का ेय उस समय केगजरातु मख्यमंत्रीुए वतर्मान म प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी को जाता है। मोदी सरकारए ने2014 सेहीए स ता म आनेकेबाद सेएभारत केिवकास केिलयेअनेक कायर्क्रम शुिकयेजैसेरूश्िडजीटल इंिडयाश्ए श्मेक इन इंिडयाश् आिद। इन कायर्क्रम केबाद मोदी सरकार नेष्कौशल िवकास अिभयान ष्ि कल इंिडयाष् ष् कायर्क्रम को शुिकया है। येएक बहु.आयामी िवकास योजना है। इसकेअ तगर्त भारतीय को इस तरह सेट्रेिनंग दी जायेगी िजससेिक वो अिधक से
अिधक रोजगार का सजनृ कर सक
प्रधानमंत्री कौशल िवकास योजना ;ि कल इंिडया िमशनद्ध . कौशल भारत कुशल
भारत की श ुआत
प्रधानमंत्रीए ी नरेद्र मोदीए नेअपनेव न श्ि कल इंिडयाश् कोए नई िद ली म श् रा ट्रीय कौशल िवकास िमशनश् के प मए शुिकया। िजसम प ट िकया िक येसरकार की गरीबी केिखलाफ एक जंग ह और
भारत का प्र येक गरीब और वंिचत यवाु इस जंग का िसपाही है। इस योजना की घोषणा भारत के प्रधानमंत्रीए नर द्र मोदी ने15 जलाईु 2015 को अ तरार्ट्रीय यवाु कौशल िदवस पर की थी। साथ ही इस योजना का लोगो ;प्रतीक िच हद्ध और टैग लाइन का अनावरण भी िकया था।
मोदी सरकार नेस ता म आनेकेबाद सेही भारत को िवकिसत रा ट्र बनानेकेिलयेअनेक कायर्क्रम को शुिकया है। इस उ ेय की पितर्ूकेिलयेसबसेमह वपणर्ूकदम भारत म कौशल िवकास योजना कायर्क्रम की शुआत है। श्कौशल भारत दृ कुशल भारतश् की योजना भी इसी का एक भाग है। श्ि कल इंिडया िमशनश् योजना केअ तगर्त चार अ य योजनाओं;रा ट्रीय कौशल िवकास िमशनए कौशल िवकास और उ यिमता केिलयेरा ट्रीय नीितए प्रधानमंत्री कौशल िवकास योजना और कौशल ऋण योजनाद्ध को
स मिलत करकेशुकी गयी है।
ि कल इंिड़या िमशन केउ ेय और मख्यु त य
देश को िवकिसत करनेकेउ ेय सेप्रधानमंत्री नर द्र मोदी ने15 जलाईु 2015 को परेूभारत म लगभग 40 करोड़ भारतीय ए को िविभ न योजनाओंकेअ तगर्तए 2022 तक प्रिशिक्षत करनेकेउ ेय सेष्कुशल भारत. कौशल भारतष् योजना को शुिकया। इस योजना का मख्यु उ ेय भारत केलोग को िविभ न

3 क्षेत्र म प्रिशिक्षत करकेउनकी कायर्क्षमता को बढ़ावा देना है। मख्यु प सेकौशल िवकास योजना का उ ेय भारत केयवाओंुकेकौशल केिवकास केिलयेउन क्षेत्र म अवसर प्रदान करना हैजो कई वष से अिवकिसत है। इसकेसाथ ही साथ िवकास करनेकेनयेक्षेत्र की पहचान करकेउ ह िवकिसत करनेके प्रयास करना है। प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी केश द म ए श्कौशल िवकास योजनाए केवल जेब म पयेभरनाऐसा नहींहैएबि क गरीब केजीवन को आ मिव वास सेभरना है।श् इस प्रकार इसकेमख्यु उ ेय िन निलिखत ह रू
ऽ गरीबी केकारण जो ब चेउ च िशक्षा प्रा त करनेसेवंिचत रह जातेह उनकेअ दर िछपेकौशल को िवकिसत करना।
ऽ योजनाबद्ध तरीकेसेगरीब और गरीब नौजवान को संगिठत करकेउनकेकौशल को सही िदशा म प्रिशिक्षत करकेगरीबी का उ मलनू करना। ऽ गरीबी को दरूकरनेकेसाथ.साथ गरीब लोग ए पिरवार तथा यवाओंुम नया सामथर्भरकेआगे बढ़नेका आ मिव वास लाना तथा देश म नयी ऊजार्लानेका प्रयास करना। ऽ  सभी रा य और संघ रा य को संगिठत करकेआईण्आईण्टीण् की इकाईय केमा यम सेदिनयाु मवंय को थािपत करना।
ऽ भारत की लगभग 65ः जनसंख्या ;िजनकी आय ु35 वषर्सेकम हैद्धको वैि वक चनौितयु का
सामना करनेकेिलयेकौशल एंव अवसर प्रदान करना। ऽ देश केयवाु और नौजवान केिलयेरोजगार उपल ध करानेकेिलयेउ ह रोजगार केयोग्य बनाने
केिलयेपरीू एक यव था केिनमार्ण को देश की प्राथिमकताओंम शािमल करना।ऽ आनेवालेदशक म परीू दिनयाु म कायर्कुशल जनसंख्या की आव यकता को परीू करनेकेिलये िव व केरोजगार बाजार का अ ययन करकेउसकेअनसारु देश केयवाओंुको प्र येक क्षेत्र म आज सेही कुशल बनाना। ऽ देश केयवाु िजस कौशल ;जैसेरूगाड़ी चलानाए कपड़ेिसलनाए अ छी तरह सेखाना बनानाए साफ.
सफाई करनाए मकैिनक का काम करनाए बाल काटनाए आिदद्ध को परंपरागत प सेजानतेहए उसके
उस कौशल को और िनखारकर व प्रिशिक्षत करकेउस यिक्त केकौशल को सरकार वारा मा यता प्रदान करना।ऽ कौशल िवकास केसाथ उ यिमता और म ूय संवधर्न को बढ़ावा देना।
ऽ सभी तकनीकी संथाओंको िव व म बदलती तकनीकी केअनसारु गितशील बनाना।

4

इस कौशल िवकास योजना म नया क्या हैघ्
एनण्डीण्एण् सरकार वारा श की गयी कौशल भारत दृ कशल भारत योजना नयी योजना नही हैइससेपहले ु ु यण्पीण्एण् सरकार नेभी ि कल डेव पड योजना को श ु िकया था। यण्पीण्एण् सरकार नेएवषर्2022 तक ू ू लगभग 500 िमिलयन भारतीय म कौशल िवकास करनेकेल य को रखा था। लेिकन एनण्डीण्एण् सरकार वारा इस ल य को बढ़ा कर 40 करोड़ कर िदया गया है। इस योजना म न केवल उ यमी संथाओंको जोड़ा ह बि कए परेूभारत म कायर्रत सभी गैर.सरकारी संथान सेभी संबंध थािपत िकया है। इससे
पहलेयेयोजना 20 मंत्रालय  वारा संचािलत की जाती अब मोदी सरकार नेइसेएक मंत्रालय वारासंचािलत की जा रही हैएजो बहुत ही चनौतीपुणर्ूकायर्है।
न केवल ि कल डेवलपम ट प्रोग्राम नया हए बि क इसका मंत्रालय और उ ेय भी नयेहै। पहलेये20 अलग.अलग मंत्रालय वारा संचािलत िकया जाता था अब सभी को एक साथ कर िदया गया है। इस तरह येयोजना परीू तरह सेनयी हैजो न केवल नयेअवसर ए क्षेत्र और थान म कौशल िवकास को करती है बि क िजन क्षेत्र म कौशल िवकास की संभावनाएंह उ ह ढूँढती भी है। इस नयेमंत्रालय ;कौशल और उ यिमता िवकास मंत्रालयद्ध की भिमकाू इन 20 मंत्रालय केसम वय केसाथ ख म नहींहोती बि क येकौशल िवकास पर चलायी जा रही सभी योजनाओंकेिलयेजवाब देय भी है।
ि कल इंिडया िमशन केल य और िदयेजानेवालेप्रिशक्षण केप्रकार
कौशल भारत दृ कुशल भारत योजना का मख्यु ल य देश केगरीब व वंिचत यवाु हैएिजनकेपास हुनर तो है
पर उसकेिलयेकोई संथागत प्रिशक्षण नहींिलया हैऔर न ही इसकी कोई मा यता उनकेपास होती है। यवाओंुकेइस हुनर को प्रिशक्षण वारा िनखारकर बाजार योग्य बनाकर प्रमाण.पत्र देतेहुयेउनकेिलए
रोजगार का सजनृ करना ही इस योजना का मख्यु ल य है। प्रधानमंत्री नेइस योजना की घोषणा केसमय ही प ट िकया था िक कौशल भारत दृ कुशल भारत योजना का ल य यवाओंुम कौशल केिवकास के साथ.साथ उनका म ूय संवधर्न करना है।
इस योजना का ल य भारत म तकनीकी िशक्षण प्रिक्रया म सधारु लाकर उसेिव व मांग केअनुप ढालना ह । इस योजना की घोषणा केसमय पीण्एमण् मोदी नेभाषण देतेहुयेकहा था िक भारत म परंपरागत िशक्षा
पा यक्रम प्रचलन म िजससेिक हम िव व म तेजी सेहो रहेपिरवतर्न केसाथ अपनेआप को गितशील नहींबना पायेह और आज भी बेराजगार है। इसकेिलयेआव यक हैिक हम अपनेशैिक्षक पा यक्रम म िव व मांग केअनसारु बदलाव लाये। आनेवालेदशक म िकस तरह केकोशल की माँग सबसेअिधक की जायेगी उसका अ ययन करकेअपनेदेश म उस अ ययन केिन कष केअनसारु यिद यवाओंुको

 

5

प्रिशिक्षत कर गेतो भारत केयवाओंुको रोजगार केसबसेअिधक अवसर िमलगे। इस तरह कौशल भारत दृ कुशल भारत एक आ दोलन हैएन िक िसफर्एक कायर्क्रम।
िवशेष कायर्क्रम को परा करनेवालेयवाओंको मंत्रालय वारा प्रमाण.पत्र िदया जायेगा। एक.बार प्रमाणू ु पत्र िमलनेकेबाद इस सभी सरकारी व िनजीए यहाँतक िक िवदेशी संगठन ए संथाओंऔर उ यम वाराभी वैध माना जायेगा। प्रिशक्षण देनेकेिलयेिविभ न ेिणय को िलया गया हैयजैसेरूवो ब चेिज ह नेकूल या कॉलेज छोड़ िदया हैएऔर कुछ बहुत अिधक प्रितभाशाली लड़क और लड़िकयाँआिद। इसकेसाथ ही गाँव केवो लोग जो ह तिश पए कृिषए बागवानी आिद का परंपरागत कौशल रखतेहैएउनकी आय को
अिधक करनेऔर उनकेजीवन तर म सधारु करनेकेिलयेप्रिशक्षण कायर्क्रम का आयोजन िकया जायेगा। कौशल भारत दृ कुशल भारत स पणर्ूराट्र का कायर्क्रम है।
कौशल भारत दृ कुशल भारत िमशन केलाभ
कौशल भारत िमशन को अ तगर्त मोदी सरकार नेगरीब व वंिचत यवाओंुप्रिशिक्षत करकेबेरोजगारी की सम या और गरीबी को ख म करनेका ल य रखा है। इस िमशन का उ ेय उिचत प्रिशक्षण केमा यम से यवाओंुम आ मिव वास को लाना हैिजससेकी उनकी उ पादकता म विद्धृ हो सके। इस योजना के मा यम सेसरकारीए िनजी और गैर.सरकारी संथान केसाथ साथ शैिक्षक संथाएंभी स मिलत होकर कायर्करगी। इस िमशन केकुछ मख्यु लाभ िन निलिखत हैरू
ऽ कौशल िवकास योजना केमा यम सेयवाओंुको प्रिशिक्षत करकेभारत म बेरोजगारी की सम या केिनवारण म सहायता।
ऽ उ पादकता म विद्ध।ृ ऽ भारत सेगरीबी ख म करनेम सहायक। ऽ भारतीय म िछपी हुईयोग्यता को बढ़ावा देनेम सहायक। ऽ  रा ट्रीय आय केसाथ.साथ प्रित यिक्त आय म विद्ध।ृऽ लोग की जीवन िनवार्ह आय म विद्ध।ृ
ऽ भारतीय केजीवन तर म सधार।ु
कौशल भारत दृ कुशल भारत अिभयान को जाग कता अिभयान केसाथ सभी लोगो को उनकेहुनर म कुशल करकेभारत सेबहु.आयामी सम याओंका िनराकरण करना है। प्रधानमंत्रीए ी नरेद्र मोदी के श द मए श्म भारत को िव व की कौशल राजधानी बनानेकेिलयेपरेूरा ट्र को प्रितज्ञा करनेकेिलये
आ वान करता हूँ।श्

।। जय भारत ।।

(Visited 2 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *